Music Festival

Music is something that we all relate to, we dont need anything to understand music we just need to open our heart and music flows in us. Music defy anything to everything that differentiate between us.

श्रद्धेय विवेक जी, संगीतज्ञ स्वर्गीय पंडित श्री रमेश जी बाकरे की स्मृति में होने वाले नाद-ब्रम्ह संगीत महोत्सव में २५ दिसम्बर को शामिल हुए। श्रद्धेय विवेक जी ने इस कार्यक्रम के दौरान कहा " संगीत मात्र कला नहीं अपितु सम्पूर्ण जीवन है, जब तक जीवन में संगीत है तब तक जीवन रचनात्मक भी है| पंडित जी जिन्हें हम पूरा क्षेत्र बाबूजी कहकर पुकारता था का सम्पूर्ण जीवन ही संगीत साधने का था, उनकी यही साधना आज अनेकानेक युवाओं को आकर्षित कर रही है, उनकी प्रेरणा इन युवाओं में जीवंत है"

Peace and prosperity - Raymond, Yavatmal

Dialogue

Vivek ji speaking about peace and prosperity in Raymond plant

I have nothing to preach but to share - Vivek ji

Letters from life

Hon Vivek ji during Maharshi Vidhya mandir program

Vivek ji meets President Ramnath Kovind

Dialogue

Hon Vivek ji meeting with President of India shri Ramnath Kovind ji