अपने को दिव्य माने क्योंकि यह जीवन दिव्य है - विवेक जी


विवेक जी और युवा संवाद

विवेक जी लगातार इस पूरे राष्ट्र में संवाद करते हुए रहते हैं, इसी कड़ी में युवाओं से संवाद करते हुए - आप दिव्यहैं क्योंकि जीवन दिव्य  है ।