मनुष्य की अस्मिता और चेतना का प्रयोग